Monday 10 December 2018

You are here

क्या जुड़वा बच्चों की आदतें भी होती है समान ?

Thu, 12/06/2018 - 07:00
41
जन प्रखर खबर। जुड़वा शब्द सुनते ही सभी यह सोचते है कि एक साथ जन्म लेने वाले दो बच्चें शारीरिक व मानसिक रूप से समान होंगे इस धारणा को पुख्ता रूप हिन्दी फिल्मों ने दिया। कुछ जुड़वा बच्चों से जुड़ी रोचक जानकारियां जन प्रखर खबर की टीम के द्वारा शुरू की गई है। ऐसा ही एक परिवार महावीर नगर, जयपुर स्थिति कमलेश अजमेरा व उनकी धर्म पत्नी प्रियंका अजमेरा का साक्षात्कार पिंकी रानी व नरेन्द्र शर्मा ने लिया। जिसके कुछ अंश आपके सामने है। 
 
अपना अनुभव बताएं, जब आपको पता चला कि आप जुड़वा बच्चों के माता-पिता बनने वाले है? 
सबसे पहले तो हम चौंक गए, क्योंकि कुछ माह पूर्व ही एक पुत्री का जन्म ऑपरेशन से हुआ था और हम मानसिक रूप से इसके लिए तैयार नहीं थे। लेकिन परिजनों के सहयोग और डॉक्टर की सलाह की वजह से हम तैयार हो गए। 
 
 
जुड़वा बच्चों के जन्म के समय आपको किन-किन समस्याओं का सामना करना पड़ा?
चूंकि पहली बच्ची भी ऑपरेशन से हुई थी और दोनों बच्चों का जन्म भी ऑपरेशन से, इसलिए शारीरिक रूप से काफी कमजोर हो गई थी साथ ही तीन बच्चों की जिम्मेदारियां मेरे ऊपर आ गई। जिसकी वजह से वह दौर हमारे लिए बहुत मुश्किल भरा रहा। 
 
बच्चों के जन्म के बाद आपके परिजनों ने किस प्रकार आपका सहयोग किया?
परिजनों ने मानसिक रूप से काफी सपोर्ट किया। उम्र के कारण परिजनों की भी अपनी सीमाएं होती है, परन्तु समय-समय पर उनका मार्गदर्शन व अनुभवों का लाभ हमें मिलता रहा।
 
 
जब भी आप घर से बाहर निकलते है, तो जुड़वा बच्चों को देख कर रिश्तेदारों व लोगों की क्या प्रतिक्रिया होती है?
वैसे तो सभी लोग बहुत खुश होते है इनको बहुत प्यार करते है जब इनको आम बच्चों से ज्यादा तवज्जों मिलती है तो हमको बेहद खुशी होती है और खुद को खास महसूस करते है। 
 
 
क्या आपने अपने दोनों बच्चों में ऐसी कोई विशेष बात देखी जो उनकी सामान्य बच्चों से अलग करती है?
हॉ, जरूर हमारे दोनों बच्चों में विशेष प्रकार का जुड़ाव महसूस होता है। उनके प्रतिदिन के अधिकांश कार्यकलाप भी एक से ही होते है सबसे विशेष बात यह है कि वह बीमार भी एक साथ ही होते है या इनके एक या दो दिन का अंतर भी हो जाता है। इसलिए एक के बीमार होने पर दूसरे को भी पहले से ही ट्रीटमेंट देना शुरू कर देते है।
 
आपके बच्चों के स्कूल में शिक्षकों को किस प्रकार की परेशानी होती है?
हॉ बिल्कुल, इशांत व विहान का स्कूल में एडमीशन करवाया तब से आज तक उनके टीचर उनमें अंतर नहीं कर पाते है। क्योंकि दोनों समान कक्षा में पढ़ते है इसलिए शिक्षक असमंजस्य की स्थिति में रहते है। कई बार एक के शैतानी करने पर दूसरे को डांट पड़ जाती है। 
 
क्या आपको लगता है कि यह लगाव भविष्य में भी ऐसे ही बना रहेगा। 
हम तो चाहते है कि दोनों बच्चें आगे भी इसी तरह से एक दूसरे की परेशानियों को महसूस करें और एक दूसरे का साथ दें। जिससे उनके जुडावा होने का मकसद पूर्ण हो सकें। 
 

 

video
Add Sharing: 
  • , ,

Jan Prakhar

NEWSLETTER

Hey! Get Nesite good news straight to Your email: